Sinusitis Infection : साइनोसाइटिस का कारण क्या है ? लक्षण ,इलाज , घरेलु उपाय

Sinusitis infection क्या होता है ? क्यों Sinusitis हो जाता है ? इसके होनेके क्या लक्षण होते है ? हम कैसे पता लगा सकते है की हमे Sinusitis infection हुवा है ? यंह किन कारणों से हो जाता है ? यदि हमें यंह हो जाता है क्या इसकी treatment रहती है ? इस दौरान क्या सावधानिया बरतनी चाहिए ? वंह कोनसे तरीके है जिसे हम घर पर ठीक कर सकते है ? दोस्तों जानेंगे विस्तारसे.

सबसे पहले हम बात करते है आखिर Sinusitis होता क्या है ?

दोस्तों हमारे Nasal Passages के आसपास का एरिया हवा से भरा हुआ रहता है. जैसे की आप नीचेकी इमेज में देख सकते है. हमारे नाक और दोन्हो आँखों की बिच वाला और उपरी हिसे की कैविटी हवा से भरी रहती है . यदि इन कैविटी में inflammation हो जाता है,या इन जगहों में कुछ समस्याये आ जाती है. तो उसे हम Sinusitis कहते है. यदि हम अपनी भाषा में कहे तो शिरानाल शोथ कहते है. अब हम बात करते है यंह होता क्यों है ? वंह कोनसे कारण है जिसे Sinusitis हमे हो जाता है ?

sinusitis in hindi

Causes क्या है ?

इसका मुख: कारण वायरल इन्फेक्शन और बैक्टीरियल इन्फेक्शन रहते है . जिसमे Streptococcus bacteria, Staphylococcus aurous bacteria और Anaerobic bacteria शामिल है. यदि इन में से कोई भी बैक्टीरिया हमारे नाक के passages अंदर चला जाता है और अंदर की जगह पर inflammation करता है. तभ हमे Sinusitis हो जाता है . इसके इलावा यदि हमे कोई एलर्जी (Allergy) हो जाती है तभी यंह हमे हो जाता है. साथही यदि हमारे Nasal passages में किसी कोई भाहरी चीज (Foreign body) की आ जाती है तभी यंह हमे हो जाता है .

यदि हमारे Nasal passages में कोई Trauma हो जाता है तभी Sinusitis हो जाता है. इसके इलावा यदि किसी व्यक्ति को दातो में इन्फेक्शन हो रहा हो तभी यंह उसे हो सकता है . Nasal tumor होने पर भी Sinusitis हो जाता है . यंह हमने आपको कुछ जरुरी कारण बताये है जिनसे मुखत: Sinusitis होता है. इसके इलवा भी कोई अन्य कारण हो सकते है . चलिए अब हम बात करते है वंह कोनसे लक्षण है जिससे पता चलता है की हमे Sinusitis हुवा है ?

Read more – 3 साल तक के बच्चे का वजन कैसे बढ़ाये ?

Sign और Symptoms क्या रहते है ?

आपको सिरदर्द (Headache) हो सकता है . आपके चेहरे की किसी भी जगह पर दर्द (Facial Pain) हो सकता है . आपकी नाक बह सकती है (Runny Nose), या आपकी नाक बंद हो सकती है. जिसे हम Nasal Congestion भी कहते है. आपको साँस लेनेमे दिक्कत आ सकती है. आपको बार बार छींके (Sneezing) आ सकती है . आपके कान में दर्द (Inflammation of Ear) रह सकता है.इसके इलावा आपके शिरानल पर दबाव आता है . इसके इलावा अन्य लक्षण भी हो सकते है . इन में सभी या फिर कुछ लक्षण आपको Sinusitis होने पर देखनेको मिल सकते है .

यदि समय रहते Sinusitis का इलाज ना करा जाये, या बहोत लंबे समय तक इसका इलाज ना करा जाये, तो आपको अन्य अनचाही दिक्कते आ सकती है. जिसमे ठीक से साँस न लेने के कारण आपको चक्कर आ सकती है . ऑक्सीजन की कमी रहने के कारण पुरे शरीर में दर्द रह सकता है . धीरे धीरे आपकी स्किन सुन्न पड़ सकती है . आप चीजो को जल्दीही भूल जाने लगते है . आपको Concentrate करने में दिक्कत आ सकती है . खासकर आपको देखनेमे भी दिक्कते आ सकती है. एसिडिटी और अपच की समस्या आ सकती है. आपमें चिडचिडापण की समस्या आ सकती है. शरीर में कमजोरी (Weakness) आ सकती है. इसके इलावा पूरी बॉडी में सूखापन (Dryness) आ सकती है.

Read more – Top 13 Surprising Summer foods for Body Coolness in Hindi

अब हम बात करते है इसके उपचारों के बरोमे ? जिसमे हम डॉक्टर द्वारा दिए गये उपचार और घरेलु उपचार के बारेमे बात करेंगे.

Treatment क्या है ?

Sinusitis को ठीक करने केलिए जादातर डॉक्टर एंटीबैक्टीरियल दवाईया Prescribe करते है. इसके साथ एंटीहिस्टामाईन दवायिया Prescribe करते है . Nasal Congestion को कम करने हेतु Stem inhalation दवाईया Prescribe करते है. साथही Nasal Spray Prescribe किया जाता है. इसके इलावा आपको ब्लड टेस्ट, साइनस डिस्चार्ज , और X-ray कराया जा सकता है.

डॉक्टर आपकी स्थिति की देखकर दवाईयों का Prescription कम या जादा कर सकते है. इसके इलावा अन्य दवाईया भी आपको दी जा सकती है . खुदही अपना ट्रीटमेंट ना करे सेल्फ मेडिकेशन को अवॉयड करे . एक डॉक्टर ही आपको सही मेडिकेशन दे सकता है. आपका प्रॉपर इलाज कर सकता है. चलिए अब हम बात करते है उन घरेलु उपचारों के बारेमे जिसे आप घर पर कर सकते है . याफिर यदि आपके नजदीकी इलाके में डॉक्टर नही है तो आप इनका इस्तेमाल कर सकते है .

घरेलु उपचार –

एक कटोरी पानी ले उसमे 1 चमच अजवाईन डालकर उसे अछेसे उबाले. फिर आप इसकी स्टीम (भाप) को ले. चारो ओर से कपड़ा ढककर भाप को अछेसे अपनी नाक से अंदर लीजिये. दिन में 2-3 बार आप इसे ले.

इसके इलावा आप शुद्ध देसी गाय के घी का भी इस्तेमाल कर सकते है. रात को सोते समय आप इस घी की 2-2 बुँदे अपने नाक में डाले. इसे आप प्रति दिन कर सकते है. इससे भी आपको काफी राहत मिलेगी.

इसके इलावा यदि आपकी दाय वाली nostril बंद है तो बाय वाली करवट लेकर थोड़ी देर लेट जाये . साथही यदि आपकी बाय वाली nostril बंद है तो आप दाय वाली करवट लेकर थोड़ी देर लेट जाये. इससे आपकी nostril खुल जाएगी. जिससे आपको साँस लेनेमे आसानी होगी.

एक कटोरी ले उसमे 2 ग्लास पानी डाले, फिर उसमे 1 चमच जीरा और 5-6 लौंग डाले . फिर इसे अछेसे उबाले , फिर किसी कपड़ो को अपने चारो ओर ढक के इसकी भाप ले. इसे आप दिन में 2-3 बार करे इससे भी काफी राहत मिलती है . इसके इलावा कोई अन्य तरीका भी हो सकता है, जो शायद हमने यंहा न दिया हो . जिसकी जानकारी आपको हो उसे आप कमेंट में लिख सखते है . इसके इलावा इसमे से आपको किस तरीकेसे अधिक राहत मिली हमे कमेंट में जरुर बताये .

Read more – Omega 3 लेना क्यों फायदेमंद है ? असर कैसा है ?

Bottom Line –

Sinusitis (शिरानाल शोथ) यंह नाक के Passages में होनेवाला इन्फेक्शन है. जिसके होनेसे साँस लेनेमे दिक्कत आती है. सिरदर्द होता है . चेहरे पर दर्द होता है. चेहरा लाल हो जाता है . यंह मुखत: वायरल और बैक्टीरियल अटैक के कारण होता है . इसे ठीक करने केलिए डॉक्टर आपको एंटीबैक्टीरियल दवाईया दे सकते है . स्टीम इन्हेलर दे सकते है . नसल स्प्रे दे सकते है . घरेलु उपचार में आप अजवाईन और पानी को उबालकर उसकी भाप ले सकते है.

Reference:

चिकित्सा गाइड by कैलाश बंजारा  

साइनोसाइटिस – Wikipedia

FAQ ?

कितने दिन तक Sinusitis infection रह सकता है ? यदि आपको नोर्मल Sinusitis हुवा है तो यंह वीथिन 10 दिन में यंह ठीक हो जाता है. फिर भी कुछ लोगो ठीक होने में 4 हफ्तों तक का समय लग जाता है. यदि Sinusitis काफी लंबे समय से है ,तो आपको 12 हफ्ते या उससे जादा का समय ठीक होने में लग जाता है .

क्या Sinusitis यंह सीरियस समस्या है ? यंह नाही कोई कॉमन समस्या है , यदि समय रहते इसका इलाज न हुवा तो यंह इन्फेक्शन हमारे Brain और स्पाइनल कॉर्ड की मेम्ब्रेन और फ्लूइड तक पहुँच सकता है .

Sinusitis का, क्या आँखों पर कुछ असर होता है ? आँखों में दर्द हो सकता है eyelid में सुजन आ सकती है , जिससे बादमे आपको देखेने में दिक्कत आ सकती है .

Sinusitis infection में हम कोनसे फल खाए जिससे की हमे इससे राहत मिलनेमे मदत मिले ? इसके लिए आप निम्बू , संतरा , किवी और अंगूर ले सकते है . इनमे काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है . जिससे टिश्यू डैमेज रुख जाता है . जिससे Sinusitis में होनेवाली inflammation और swelling होना कम होती है .

Leave a Comment