बवासीर (Piles) क्यों होता है ? लक्षण, कारण, ट्रीटमेंट, घरेलू इलाज और परहेज (Home Remedies in Hindi)

बवासीर (Piles) क्यों हो जाता है ? बवासीर होने के पीछे क्या कारण है ? Piles होने के क्या लक्षण हमे दिखाई पढ़ते है ? इसका इलाज कैसे होता है ? क्या बवासीर (Piles) को हम घर पर ठीक कर सकते है ? घरेलु इलाज क्या हो सकता है ? ऐसी कोनसी चीजे की जाये जिनसे हमे बवासीर की समस्या का सामना ना करना पड़े ? यदि बवासीर अभी शुरू ही हो रहा है , लेकिन कोई पीड़ा हमे नही होती है ? इस स्थिथि में हम कैसे इसे आगे बढने से रोक सकते है ? अब हमे बवासीर की समस्या हो गयी है , हमे इस समय कोनसी चीजे खानी चाहिए और कोनसी चीजो से परहेज करना चाहिए ? दोस्तों जानेंगे विस्तारसे .

बवासीर (Piles) किसे कहते है ?

Piles या हेमोर्र्होइड (Hemorrhoids) यंह Colon या रेक्टम एरिया की Dilated vein (रक्तकोशिका) में होता है. जो की सॉफ्ट टिश्यू के निचे होता है . आसान तरीकेसे कहे तो हमारे गुदाद्वार (Anus area) में एक या अनेक  रक्त कोशिकावो में सुजन आ जाना, या उनका फुल जाना बवासीर (Piles) कहलाता है . जिसमे बादमे स्टूल पास करने के दौरान कभी कभी ब्लीडिंग (Bleeding) भी होती है. इसमे मुखत: 3 प्रकार की बवासीर देखनेको मिलती है . 1. बाहरी बवासीर (External Piles) 2. अंदरूनी बवासीर (Internal Piles) 3. बाहरी एंव अंदरूनी बवासीर (Combine Piles)

बाहरी बवासीर यंह हमारे गुदाद्वार (Anus) की Surrounding Veins में होती है. जिसमे बवासीर के मस्से गुदाद्वार के बाहरी तरफ हो जाते है . अंदरूनी बवासीर यंह गुदाद्वार (Anus) के रास्ते में अंदरूनी तरफ से हो जाते है. जो स्किन से ढके होते है . जो बादमे स्टूल पास करनेमे काफी दिक्कत करते है . Combine Piles यंह हमारे गुदाद्वार (Anus) के रास्ते में अंदर की तरफ साथही बाहरी तरफ हो जाते है .

piles meaning in hindi

बवासीर (Piles) होने के क्या कारण (Causes) है ? किसे होता है ?

यदि कोई व्यक्ति बहुत लंबे समय से कब्ज (Constipation) से ग्रस्त है. उसे स्टूल पास करते समय जरूरत से अधिक प्रेशर लगाना पढ़ रहा है . उस स्थिति में व्यक्ति को बवासीर हो जाता है . यदि कोई व्यक्ति जरूरत से कम पानी पिता रहता है. उसे भी बवासीर हो जाती है. यदि आप बहुत ज्यादा बेठे रहते है . या आपका काम ही बहुत बैठकर करना है, उस स्थिथि में भी कुछ समय बाद बवासीर होता है .  यदि आप मोटापे की समस्या से पीड़ित है , या आप प्रेगनेंसी के वक्त से गुजर रहे है , तभ भी बवासीर होने की संभावना बढ़ जाती है .

piles meaning in hindi

यदि आप अपने खानपान में फाइबर युक्त चीजे कम लेते है, तब भी आपको बवासीर हो सकता है . इसके इलावा आप बहुत भारी भरकम वजन उठाने वाला काम करते है , या आप भारी भरकम वजन उठाते रहते है , इस स्थिति में भी आपको बवासीर हो सकता है . यदि आप Crohn’s Disease से ग्रस्त है, तब भी आपको बवासीर की समस्या आ सकती है . गुदामार्गीय मैथुन (Anal intercourse) करते रहने से भी आपको बवासीर की समस्या आ सकती है . इसके इलावा अन्य कारण भी सकते है .

Read more – कब्ज से बचने केलिए क्या करे ?

बवासीर के क्या लक्षण (Symptoms) है ?

हमे कैसे पता चलेगा हमे Piles हो गया है ? या होनेवाला है ? आईये जानते है वे कोनसे लक्षण होते है ? जो बवासीर होने के पूर्व और दौरान दिखाई पड़ते है ?

इसमे आप देखेंगे की गुदाद्वार की Tissue में Pressure बढ्नेसे रक्त कोशिका(Vein) Dilate होकर मोटी हो  जाती है . आपको स्टूल पास करने के दौरान स्टूल के साथ खून (Painless Bleeding) आता है . आपको अंदर ही अंदर बेचेनी और त्रिव पीड़ा होती रहती है . गुदाद्वार पे खुजली (Itching) हो सकती है . आपको भारीपन (Heaviness) लगता है . गुदाद्वार मार्ग में असहनीय दर्द(Severe Pain at anus region) होता है. आपकी कब्ज की समस्या दिन प्रति दिन बढती जाती है . आपको उठने बैठने एंव चलने फिरने में दिक्कत (Difficulty in Sitting & Walking) आती है .

यदि बहुत लंबे समय से बवासीर बना हुवा है , तो आपको डेली की सामान्य चीजो के लेकर confusion बनती रहती है . आपमें चिडचिडा पण बढ़ता रहता है . आपका मन अपने काम और घरमे नही लगता है. आप जल्दीही चीजे भूलने लगते है . छोटी छोटी चीजो को लेकर आपकी अनबन बनी रहती है .आपके अपने घरके लोग आपको लेकर चिंता करते रहते है, यदि आपने उन्हें अपनी बवासीर की समस्या के बारेमे ना बताया हुवा है. बवासीर की समस्या को अपने तक ही लंबे समय केलिए गुपित रखने की मानसिक स्थिति आपमें बनती है . यंह कुछ फिजिकल और मानसिक लक्षण आपको देखनेको मिलते है , इसके इलावा अन्य लक्षण भी आपको दिख सकते है.

Read more – साइनोसाइटिस क्यों हो जाता है ? कैसे ठीक करे ?

Piles का ट्रीटमेंट कैसा होता है ?

इसके लिए डॉक्टर आपकी कंडीशन को देखकर अपने अनुसार ट्रीटमेंट दे सकता है . जिसमे गैस को कम करने हेतु कुछ Antacid दवाईया आपको दी जा सकती है . कब्ज को कम करने केलिए कुछ Lactulose solution युक्त Syrup दिए जा सकते है . स्टूल पास करने के दौरान होनेवाले दर्द से बचने केलिए आपको Lignocaine Hydrochloride 2% Jelly गुदाद्वार पे लगाने केलिए दी जा सकती है . इसके इलावा स्थिति गंभीर होने पर ऑपरेशन भी कर सकते है.

नोर्मल होमेओयोपथिक सर्जेरी में बवासीर के मस्से में जमा हुवा ख़राब खून सीरिज से फोड़कर निकाल लिया जाता है . इसके साथ उन मस्सो को धागे से बांधकर सूखने केलिए कुछ दिन रखा जाता है . जिसे बादमे कट करके निकाल लिया जाता है. इस दौरान डॉक्टर आपको गुदाद्वार पे लगाने केलिए 2% Jelly और अन्य एंटीबैक्टीरियल, Antacid दवाईया दे सकता है . इसके इलावा डॉक्टर अन्य दवाईया भी आपको दे सकता है . बवासीर में होनेवाले ऑपरेशन को लेकर जादा डर ना बनाके रखे . समय रहते बवासीर का इलाज ना किया जाये, तो यंह ओर भी गंभीर समस्याये आपके लिए खड़ी कर सकता है .

Read more – बवासीर के बारेमे अधिक जाने .

घरेलू उपचार (Home Remedies) –

इसके लिए आप दिन में कम से कम 8-10 ग्लास पानी पिए . अपने खाने में फाइबर युक्त चीजो को अधिक का सेवन करे, कब्ज को बढ़ावा देने वाली खाने की चीजो से परहेज करे .

ऐसे किसी स्थान पर या खुर्ची पर बैठे जिससे बवासीर (Piles) पर Pressure ना पड़े , उनमे खिचाव ना हो. इसके इलावा आप आराम से बैठकर गरम पानी से नहाये . गुदाद्वार में पीड़ा ग्रस्त एरिया में नमी बनाये रखे , साफ कपड़े का इस्तेमाल करे , इसके लिए आप क्रीम या वेसिलीन लगा सकते है .

अपने खाने में राजमा , ओअट्स , अलसी , फ्लेक्स सीड, काजू , बादाम, अक्रोड , पपीता , गाजर , मुली , मुंग की दाल , बरबटी की दाल , दही , घी , अंजीर , चुकंदर जेसी फायबर से भरी हुयी चीजे ले .

बहुत लंबे समय तक एकही स्थान पर बैठे रहना को टाले, बिच बिच में थोडा घुमले . अधिक टाइट कपड़े पहना बंद करे . स्टूल के मोशन में उसे रोकना बंद करे. टॉयलेट आते ही टॉयलेट केलिए चले जाये. बहुत अधिक वजन उठाना टाले .

Bottom Line –

बवासीर (Piles) यंह एक ऐसी समस्या है , जिसमे व्यक्ति को अपने गुदाद्वार मार्ग में अंदुरनी तरफ या बाहरी तरफ Vein dilute हो कर मोटी हो जाती है . रक्त कोशिकाये फुल जाती है . जिससे व्यक्ति को बादमे स्टूल पास करने में दिक्कत आती है . स्टूल पास करते समय स्टूल के साथ कभी कभी खून (Bleeding) भी आता है. इस समस्या को सही खानपान , ट्रीटमेंट और अपनी दिनचर्या में बदलाव करके ठीक किया जाता है .

FAQ ?

मेरा काम ही अधिक बैठ करना रहता है , तो में इस स्थिति में क्या करू ? आप आपने काम करने के दौरान बिच बिच में थोडा ब्रेक ले सकते है , थोडा टहल सकते है . थोडा उठकर चल सकते है .

क्या बवासीर को लंबे समय तक गुप्त रखना सही है ? बिलकुल नहीं , जितना जल्दी बवासीर का इलाज हो उतना ही अच्छा रहता है , देर की तो यंह अधिक गंभीर समस्या करती है .

Leave a Comment